• support@answerspoint.com

तीव्र जनसंख्या वृद्धि का पर्यावरण एवं विकास पर क्या प्रभाव पड़ता है? What is the impact of rapid population growth on the environment and development?

637

तीव्र जनसंख्या वृद्धि का पर्यावरण एवं विकास पर क्या प्रभाव पड़ता है? What is the impact of rapid population growth on the environment and development?

1Answer


0

बढ़ती हुई जनसंख्या वृद्धि ने कई समस्याओं को जन्म दिया है। इससे देश के पर्यावरण एवं विकास पर गहरा प्रभाव पड़ता है|

  1. संसाधनों का ह्रास :- तेजी से बढ़ती जनसंख्या की आवश्यकता पूर्ति हेतु सीमित संसाधनों का तेजी से विदोहन हो रहा है। इस तरह संसाधनों का तेजी से ह्रास हो रहा है।
  2. वनीय क्षेत्र का ह्रास एवं पर्यावरण में असंतुलन :- पर्यावरण संतुलन के लिए भू-भाग के 33% भाग में वनों का होना आवश्यक है, किन्तु जनसंख्या वृद्धि के कारण वनों को लगातार साफ कर कृषि भूमि एवं आवासीय क्षेत्र में परिणित किया जा रहा है जिससे पर्यावरण भी प्रदूषित होता है।
  3. भूमि की उपजाऊपन का ह्रास :- बढ़ती हुई आबादी के लिए खाद्यानों की पूर्ति हेतु भूमि में लगातार फसल उगाने एवं रासायनिक उर्वरकों के बेतरतीब उपयोग से भूमि की उपजाऊ शक्ति का ह्रास हो रहा है।
  4. भूख एवं गरीबी :- जिस अनुपात में जनसंख्या बढ़ रही है उस अनुपात में उत्पादन नहीं बढ़ पाने से देश में निरंतर भूख एवं गरीबी की समस्या बढ़ती जा रही है। इस प्रकार बढ़ती हुई जनसंख्या किसी देश के विकास में बाधक है।
  • answered 8 months ago
  • Community  wiki

Your Answer

    Facebook Share        
       
  • asked 8 months ago
  • viewed 637 times
  • active 8 months ago

Best Rated Questions