• support@answerspoint.com

बिहार में औद्योगिक पिछड़ेपन के कारण |

594

बिहार में औद्योगिक पिछड़ेपन के कारण | causes of industrial backwardness in Bihar.

1Answer


0

बिहार की अर्थव्यवस्था कृषि, वानिकी, उद्योग एवं पर्यटन पर समान रूप से आधारित है। यहाँ की अर्थव्यवस्था में खनिज सम्पदा जैसे परम्परागत साधनों का बहुत कम  योगदान है। बिहार का लगभग 65 प्रतिशत भू-भाग बाढ़ प्रभावित है जिसके कारण कृषि अत्यन्त श्रम-साध्य कार्य है और मात्र 14 प्रतिषत भू-भाग ही कृषि-योग्य है जो वर्षा पर निर्भर करती है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण कई बार भू-क्षरण, अति वर्शा आदि के कुप्रभाव के कारण कृषि पूर्णतया चौपट हो जाती है।

प्रदेश में औद्योगिक पिछड़ापन के लिए निम्न कारणों को मुख्यतः जिम्मेदार माना जा सकता है :-

  • आधारिक वातावरण का अभाव |
  • कृषि पर अत्यधिक निर्भरता की प्रवृत्ति |
  • खनिजों की कमी |
  • छोटे और लघु उद्योगों पर ध्यान नहीं दिया जाना |
  • पुराने मशीन और तकनीक आज भी प्रयोग में लाए जाते हैं |
  • पूंजी की कमी और विनिवेश का अभाव |
  • विस्तृत बाजार का अभाव |
  • औद्योगिक आधारभूत संरचना का अभाव जैसे: सड़क, बिजली आपूर्ति, संचार साधन, प्रशासनिक कमी आदि |
  • प्रबंधन की समस्या |
  • व्यापक प्रांतीय औद्योगिक नीति का भाव बिहार में 1995 का औद्योगिक नीति का पालन हो रहा है और बिहार राष्ट्रीय औद्योगिक नीति का अनुसरण करने में अक्षम रहा है |
  • answered 5 months ago
  • Community  wiki

Your Answer

    Facebook Share        
       
  • asked 5 months ago
  • viewed 594 times
  • active 5 months ago

Hot Questions