• support@answerspoint.com

बिहार में जूट उद्योग के दो केन्द्रों के नाम लिखिए।

1873

बिहार में जूट उद्योग के दो केन्द्रों के नाम लिखिए। Write the names of two centres of jute industry in Bihar.

1Answer


0

जूट एक रेशेदार फसल होती है, जिससे रस्सी, बोरी, तिरपाल, तंबू, कागज, थैले, कपड़े आदि जैसे उपयोगी वस्तुएं बनती हैं।

बिहार के पूर्णिया जिले मुख्य रूप जूट उद्योग स्थापित है।

पूर्णिया के अलावा बिहार के समस्तीपुर, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, गया आदि जिलों में भी जूट उद्योग स्थापित है, लेकिन बिहार में केवल तीन कार्यरत जूट मिलें हैं - एक समस्तीपुर जिले के मुक्तापुर में, दूसरी पूर्णिया में और तीसरी कटिहार में। तीन मिलों का अधिकतम उत्पादन प्रति दिन 80-85 टन है।

भारत में जूट उद्योग के अधिकतर कारखाने पश्चिमी बंगाल, बिहार और आंध्र प्रदेश में स्थापित हैं। भारत में जूट उत्पादन के क्षेत्र में पश्चिमी बंगाल पहले स्थान पर है, उसके बाद बिहार का नंबर आता है। जूट उद्योग में भारत का विश्व में पहला स्थान है और भारत में विश्व के लगभग 50% जूट के सामानों का निर्माण किया जाता है।

  • answered 2 years ago
  • Community  wiki

Your Answer

    Facebook Share        
       
  • asked 2 years ago
  • viewed 1873 times
  • active 2 years ago

Best Rated Questions