• support@answerspoint.com

ब्लैक फंगस क्या है? इसके संक्रमण के क्या लक्षण है ।

750

ब्लैक फंगस क्या है? इसके संक्रमण के क्या लक्षण है ।

1Answer


0

ब्लैक फंगस हमारे घर में ही पाया जाता है. ये गीली मिट्टी में म्यूकर के संपर्क में आने से होता है. ये आमतौर पर मिट्टी, जानवरों के गोबर, सड़ी लकड़ी, पौधों की सामग्री, खाद और सड़े फलों और सब्जियों में पाया जाता है. भारत में कोरोना की दूसरी लहर में कई जगह मरीजों को गंदे तरीके से ऑक्सीजन पहुंचाने का काम किया जा रहा है जिसकी वजह से भी ब्लैक फंगस के मामले बढ़े हैं. इसके अलावा कोरोना के इलाज में स्टेरॉयड का ज्यादा इस्तेमाल भी इसे बढ़ाने का काम कर रहा है.

ये एक दुर्लभ संक्रमण है जिसे म्यूकोरमाइकोसिस भी कहा जाता है. ये Covid-19 के मरीजों या फिर ठीक हो चुके मरीजों में खतरनाक साबित हो रहा है. अगर समय पर ध्यान ना दिया गया तो 50-80 फीसद मरीजों की इससे मौत भी हो सकती है. ये एक फंगल इंफेक्शन है जो खासतौर से उन लोगों को संक्रमित करता है जो किसी ना किसी बीमारी कि वजह दवाओं पर हैं. इसकी वजह से उनमें रोगाणुओं से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. ऐसे लोगों में हवा के जरिए साइनस या फेफड़ों में संक्रमण फैल जाता है.

 

किन लोगो को है ब्लैक फंगस का खतरा

  • अनियंत्रित डायबिटीज के मरीजों और कोरोना संक्रमण से इलाज के दौरान स्टेरॉयड का सवाल करने वाले लोगों को इस समस्या का ज्यादा सामना करना पड़ता है।
  • ऑक्सीजन पर रहने वाले कोरोना मरीज। इसके अलावा सांस संबंधी बीमारियों और एंटी कैंसर ट्रीटमेंट ले रहे लोगों को यह समस्या होती है। 
  • स्टेरॉयड की हाई डोज लेने वाले लोगों को भी ब्लैक फंगस का खतरा रहता है। 

 

ब्लैक फंगस के लक्षण

इसका लक्षण इस पर निर्भर करता है कि ये शरीर के किस हिस्से में फैल रहा है. हालांकि आमतौर पर ये साइनस, फेफड़ों और दिमाग में फैलता है. इसके आम लक्षण

  • नाक का बंद हो जाना
  • नाक की ऊपरी परत पर पपड़ी जम जाना
  • नाक की स्किन काली पड़ जाना है
  • इसके अलावा आंखों में दर्द और धुंधला दिखाई देना भी इसके लक्षण हैं
  • नाक से खून आना या फिर काला सा कुछ पदार्थ निकलना।
  • नाक बंद होना, सिर दर्द होना या फिर आंखों में जलन और दर्द होना। आंखों के आसपास सूजन होना। डबल विजन, आंखें लाल होना, दृष्टि कमजोर होना, आंखें बंद करने में परेशानी होना, आंखें खोलने में दिक्कत होना आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। 
  • दांतों में दर्द हो, चबाने में कष्ट हो या फिर उल्टी और खांसने में खून आए।

 

ब्लैक फंगस का शिकार होने पर क्या करें

  • तुरंत किसी नाक, कान और गला रोग विशेषज्ञ से सलाह लें। इसके अलावा किसी असामान्य बीमारी का इलाज करने वाले डॉक्टर से बात करें। 
  • नियमित इलाज कराएं और उसका फॉलोअप लें। डायबिटीज के मरीज हैं तो फिर ब्लड शुगर को कंट्रोल करने का प्रयास करें और उसकी मॉनिटरिंग करते रहें। 
  • किसी अन्य गंभीर बीमारी के भी शिकार हैं तो लगातार दवा लें और डॉक्टर के संपर्क में रहें। 
  • स्टेरॉयड की कोई दवा खुद से न लें। ऐसी दवा लेना भारी पड़ सकता है। 

 

  • answered 4 months ago
  • Community  wiki

Your Answer

    Facebook Share        
       
  • asked 5 months ago
  • viewed 750 times
  • active 4 months ago

Hot Questions