• support@answerspoint.com

भारत में राष्ट्रीय चेतना के उदय के कारणों का वर्णन कीजिए? Describe the reasons for the rise of national consciousness in India.

231

भारत में राष्ट्रीय चेतना के उदय के कारणों का वर्णन कीजिए? Describe the reasons for the rise of national consciousness in India.

 

1Answer


0

भारत के लोगो में राष्ट्रीय चेतना के उदय 19वीं शताब्दी के अन्त में और 20वीं शताब्दी के प्रारंभ में एक नवीन चेतना का उदय हुआ। इसके मूल कारण निम्नलिखित थे :-

पाश्चात्य शिक्षा का प्रसार :- अंग्रेजी भाषा के अध्ययन से भारत के अनेक भाषा भाषी लोग एक दूसरे के संपर्क में आए इससे राष्ट्रीय एकता को प्रोत्साहन मिला।

लार्ड लिटन की अत्याचार पूर्ण नीति :- लार्ड लिटन ने देशी भाषाओं में छपने वाले समाचार पत्रों पर कठोर प्रतिबंध लगाये। उसने देश की संपूर्ण जनता का बल पूर्वक निःशस्त्रीकरण कर दिया। देश में भयंकर अकाल पड़ गया जिसमें लाखों व्यक्ति मर गये। लिटन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया । जिससे जनता में भयंकर रोष पैदा हुआ।

समाज सुधार आंदोलनों का प्रभाव :- राजाराम मोहन राय ने धर्म को आधुनिक सांचे में ढ़ालकर भारतीय समाज में नव जीवन का संचार किया। स्वामी विवेकानन्द ने स्वशासन पर बल दिया। स्वामी दयानन्द ने भारत की आध्यात्मिक श्रेष्ठता सिद्ध की।

भारत का आर्थिक शोषण :- अंग्रेजों ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर प्रहार किया। भारत के परम्परागत उद्योगों तथा दस्तकारियों का अन्त कर दिया। उद्योगों के पतन के बाद श्रमिक भूखे मरने लगे।

भारतीय समाचार पत्र तथा साहित्य :- समाचार पत्रों ने जनता का ध्यान देश की दुर्दशा, अंग्रेजों के अत्याचारों तथा दमन की ओर आकर्षिक किया और अंग्रेजी सरकार की आलोचना की।

देश में राजनीतिक एकता की स्थापना :- भारत में राजनीतिक एकता की स्थापना होने के परिणामस्वरूप स्थानीय भक्ति का स्थान देश भक्ति ने ले लिया जिससे स्वतंत्रता का भाव पैदा हुआ ।

यातायात के साधनों की उन्नति :- ब्रिटिश शासनकाल में रेल डाक, तार तथा सड़कों आदि की उन्नति में भी संपूर्ण देश को एक सूत्र में बांध दिया।

  • answered 3 weeks ago
  • Community  wiki

Your Answer

    Facebook Share        
       
  • asked 3 weeks ago
  • viewed 231 times
  • active 3 weeks ago

Hot Questions