• support@answerspoint.com

शुगर लेवल कम होने के लक्षण और कारण

जानिए शुगर लेवल कम होने के लक्षण और कारण

 

शुगर यानी ग्लूकोज हमारे शरीर में ऊर्जा के प्रमुख स्रोतों में से एक है। यह शुगर खून के जरिए हमारे शरीर के अंगों तक पहुंचता है यानी ब्लड शुगर शरीर की बुनियादी जरूरत है. शुगर कभी ज्यादा या कभी कम हो सकती है। चीनी का बढ़ना और गिरना दोनों ही बेहद खतरनाक है। हाइपोग्लाइसीमिया एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त शर्करा का स्तर सामान्य से नीचे चला जाता है।

निम्न रक्त शर्करा या हाइपोग्लाइसीमिया क्या है? (हिंदी में लो ब्लड शुगर या हाइपोग्लाइसीमिया क्या है?)

हमारे शरीर का सामान्य ब्लड शुगर लेवल 80-110 mg/dL के बीच होता है और 90 mg/dL को औसत ब्लड शुगर लेवल माना जाता है। ज्यादातर लोग हाई ब्लड शुगर को एक समस्या मानते हैं, लेकिन लो ब्लड शुगर के खतरे से अनजान हैं।

क्या आपको कभी चक्कर आता है या कभी-कभी आप कमजोर और भ्रमित महसूस करते हैं? हो सकता है कि आपको इसके साथ नर्वस और कंफ्यूज और पसीना भी आ रहा हो। यदि ऐसा हुआ है, तो आपको हाइपोग्लाइसीमिया या निम्न रक्त शर्करा का दौरा पड़ सकता है। जब रक्त शर्करा का स्तर 72 mg/dL से नीचे चला जाता है, तो इसे हाइपोग्लाइसीमिया या निम्न रक्त शर्करा कहा जाता है। मधुमेह की दवाओं का अत्यधिक सेवन हाइपोग्लाइसीमिया का सबसे महत्वपूर्ण कारण है। यह खतरा तब और बढ़ जाता है जब आप या तो बहुत कम खाते हैं या समय पर नहीं खाते हैं।

शारीरिक रूप से सक्रिय रहना मधुमेह को नियंत्रित करने का एक आसान तरीका है, लेकिन यदि आप मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन ले रहे हैं, तो व्यायाम के दौरान और बाद में हाइपोग्लाइसीमिया का खतरा बढ़ सकता है। सोते समय भी आपको हाइपोग्लाइसीमिया हो सकता है। कई बार लोगों को यह समझ भी नहीं आता है कि इंसुलिन लेने वाले लोगों में ऐसा ज्यादा होता है।

    Facebook Share        
       
  • asked 1 year ago
  • viewed 254 times
  • active 1 year ago

Top Rated Blogs