• support@answerspoint.com

आइये जानते हैं नकारात्मक सोच को अपने अंदर आने से कैसे रोका जाय | how to stop Negative Thinking

आज हम बात करने जा रहे है नकारात्मक सोच (Negative think) के बारे में, यहाँ तक देखा जय तो आज के समय में लोगो के पास time की बहुत कमी है अपनों से मिलने का या साथ रहने का मौका कम मिलता है इस भागदौड़ भरी life मे अपने पीछे छूट जाते है. इसी कारन आजकल हर कोई गलतफहमी का शिकार है, हर कोई एक दूसरे को शक की निगाहो से देखते है|

ना तो किसी के पास अपनों को समझाने का समय है और ना किसी को समझने का वक़्त इसीलिए हम लोगो के मन में एक दूसरे के प्रति गलत-सलत विचार भर जाते है. और फिर सामने वाले के लिए वही भावना प्रगट होती है जो हम सोचते है, जब हम उनसे बात करते है या मिलते है तो इतने नकारात्मक थॉट्स हमारे दिमाग में आ जाते है की बोलना-चालना भी बंद हो जाता है.

 

नकारात्मक सोच को आने से कैसे रोके|

1. आप मुस्कुराते रहे  (Smile more often)

हमेशा अपने चेहरे (face) पर एक प्यारी सी मुस्कान बनाये रखे, इससे ये होगा अगर आप अंदर से किसी बात से दुखी या परेशान है तो आपकी बजह से किसी को कोई problem नहीं आयेगी क्योंकि आप उसे जाहिर ही नहीं होने देंगे, इस तरह आपके अंदर एक positive person का जन्म होना सुरु होगा .

2.  सकारात्मक लोगों की तलाश करे (Seek the positive people)

आप उन लोगो की तलाश करे जो लोग अपने जीवन में बहुत खुश हो, हमेशा अच्छी-अच्छी बाते करते हो अच्छा आचरण रखते हो ऐसे लोगो की खोज करे और उनके साथ attachment बनाये रखे फिर आपकी भी गिनती उन लोगो में होने लगेगी और आपसे लोग जुड़ना शुरू कर देंगे.

3.  संगीत सुने हँसी मजाक वाली फिल्म देखे (Watch a funny movie and Listen to music)

जब आपकी thinking negative हो उस time आप अपनी पसंद का संगीत सुने कोई आपका पसन्दीदा गाना हो उसे सुने आपको ख़ुशी होगी और आप अपनी नकारात्मक सोच को positive thinking में तब्दील कर लेंगे. हँसी मजाक comedy वाली फिल्म देखे अपनी पसंद का कोई भी program देखे जिसे देखने के बाद आपको बहुत हल्कापन महसूस होता हो.

4. अपनी समस्याओं पर ध्यान न दें (Ignore your problems)

अगर आप किसी दिक्कत का सामना कर रहे है जिससे आपको और आपकी सोच दोनों को नुकसान हो रहा हो तुरन्त वैसे हालात से बहार आ जाये और फिर उन पर से अपना ध्यान हटा ले|

5. बार बार नेगेटिव बात न करे  (Avoid repeating negative thoughts)

ऐसा कई बार होता होगा की आप लगातार नकारात्मक स्थिति में है या बार बार आपको उनका सामना करना पड़ रहा है तो सबसे पहले अपने माहौल को बदले जिससे आपको इन सबका सामना बहुत बार न करना पड़े फिर आप recover हो सकते है. नाकि आप बार बार negative बाते करके और negative  होता  जाये |

6.  हमेशा दुखी जैसा व्यवहार करने से बचे (Don’t behave like a victim)

जब लोगो से मिलते है उनसे बात करते है या करना स्टार्ट करते है तो अपना confidence level बनाये रखे क्योंकि “first impression is the last impression” होता है low confidence या दुखी वाला attitude न रखे.

7.  एक अच्छे इंसान बने (Be nice to people)

एक good person बनने की पूरी कोशिश करे, अपना अंदर self confidence रखे और अपने काम पर भी क्योंकि एक अच्छे इंसान के पास आना बात करना सबको पसंद है.

8.  नकारात्मक शब्दो का उपयोग न करे (Use less often the words)

कुछ एक word like ‘can not’, ‘impossible’, ‘difficult’ and similar words ऐसे है जो जल्दी से ना बोले friends हम तो कहेंगे कभी भी नहीं बोले आप ऐसे शब्द जैसे: ये मुश्किल है, ये नहीं हो सकता है, ये बहुत कठिन है इस तरह की बोल चाल से बचे.

9. प्रेरणादायक विचार पढ़े Read inspiring quotes

अपने आपको को motivate करने के लिए, कुछ किताबे पढ़े motivational quotes पढ़े successful लोगो को फॉलो करे, इन सब काम से आपको inspiration मिलेगी आपको positive होने में और आप आसानी से negative thinking को पूरी तरह से ख़त्म  कर पायेंगे.

 

नकारात्मक विचार क्यों आते है?

नेगेटिव सोच अत्यधिक चिंता, थकान और तनाव की वजह से आते है कभी - कभी negative thoughts की वजह हम खुद भी होते हैं लेकिन कुछ बातें ऐसी है जो आपको नकारात्मक सोच से दूर रख सकती हैं।

अगर आप नकारात्मक सोच से घिर चुके है और इससे छुटकारा पाना चाहते है तो आपको कुछ सकारात्मक बाते को follow करना चाहिए  मुझे उम्मीद है आप इन सकारात्मक बातों को फॉलो करके नेगेटिव सोच से छुटकारा पा सकते हैं।

आईये जानते है ऐसी कुछ बातें जो आपको नकारात्मक सोच से दूर रख सकती हैं!

1. नकारात्मक विचारों पर विश्वास ना करे ये सफलता की सबसे बड़ी रूकावट हो सकती है।

2. नकारात्मक पर ज्यादा ध्यान न दें और अपने जीवन में सकारात्मक पर ध्यान केंद्रित करें।

3. नकारात्मक विचारों को ब्यक्त करने से बचें।

4. सही रवैया अपनाने से नकारात्मक तनाव को सकारात्मक रुप में बदल सकते हैं।

5. आत्मविश्वास बनाए रखें, आत्मविश्वास की कमी ना आने दें क्योंकि ज्यादातर लोग आत्मविश्वास की कमी से नकारात्मक सोच के शिकार बनते हैं।

6. अपने अतीत के बारे में मत सोचों क्योंकि अतीत की गलतियों या भविष्य बनाने की चिंता ही नेगेटिव थिंकिंग का मुख्य स्रोत हैं।

7. नकारात्मक वातावरण में ना रहें, नेगेटिव थॉट्स वाले लोगों से दूर रहें।

8. हमेशा कुछ ना कुछ करते रहें अपने आप को व्यस्त रखें, कुछ काम नहीं है तो पॉजिटिव गाने सुनें या किताब पढ़ें।

9. ऐसे लोगों के साथ रहें जो खुश रहते है. हमेशा खुश रहने और हँसते रहने की कोशिश करें।

 

 

    Facebook Share        
       
  • asked 8 months ago
  • viewed 644 times
  • active 8 months ago

Latest Blogs